राजद समर्थित वाम दलों के बंद को जनता ने नकारा : जाप(लो)

 राजद समर्थित वाम दलों के बंद को जनता ने नकारा : जाप(लो)

मुजफ्फरपुर मामले में सुप्रीम कोर्ट की पहल का जाप(लो) ने किया स्‍वागत

पटना। जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद और प्रदेश प्रवक्ता श्याम सुंदर ने राष्ट्रीय जनता दल समर्थित संयुक्त वाम दलों के बिहार बंद पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि राजधानी पटना समेत सूबे के अन्य हिस्सों में कोई असर नहीं दिखा। नेताओं के चरित्र को देखते हुए ही जनता ने  राजद समर्थित वाम दल के बंद को अपना समर्थन नहीं दिया। आम दिनों की तरह सड़कों पर गाड़ियां दौड़ती रही। बाजार खुले रहे। प्रदर्शन को हंगामेदार बनाने के लिये बंद समर्थक जहां कही भी सड़कों पर उतरे हंगामा करना शुरू कर दिया।

pappu yadav bihar band

श्‍याम सुंदर ने कहा कि दो महीने बाद ही सहीसंयुक्त वाम समेत राजद ने भी माना कि मुजफ्फरपुर रिमांड होम सेक्स कांड ह्दयविदारक और मानवता को कलंकित करने वाला है। इसके पहले सड़क से सदन तक अकेले जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) आंदोलित थी, जिसमें पार्टी के राष्‍ट्रीय संरक्षक सह सांसद पप्‍पू यादव शुरू से आवाज उठाई, जिस वजह से बालिका गृह मामले में सीबीआई जांच की कार्रवाई संभव हो पायी। उन्‍होंने कहा कि जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) अभी भी आंदोलित है और चारा घोटाले की तरह सुप्रीम कोर्ट या फिर हाईकोर्ट की निगरानी में जांच कराने की मांग करती है। जबतक कोर्ट की निगरानी में जांच नहीं होगापार्टी चुप नहीं बैठेगी।

उधर, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने मुजफ्फरपुर महापाप मामले में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा स्‍वत: संज्ञान लिए जाने का स्वागत किया और कहा कि माननीय सर्वोच्‍च न्‍यायालय के इस कदम से जांच में पारदर्शिता आयेगी और जो भी दोषी हैं उन पर अवश्य कार्यवाही होगी। क्योंकि इस मामले में बड़े-बड़े सफेदपोश और आला अधिकारी शामिल रहे हैं। सीबीआई अब जांच में पूरी ईमानदारी बरतेगी। इसके लिए माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने स्वत संज्ञान लेकर यह इंगित कर दिया है कि इस तरह के जघन्य एवं मानवता को शर्मसार करने वाली घटना पर वह चुप नहीं बैठ सकते।