प्रदेश के अस्‍पतालों में नहीं खत्‍म हो रही कुव्‍यवस्‍था : पप्‍पू यादव

प्रदेश के अस्‍पतालों में नहीं खत्‍म हो रही कुव्‍यवस्‍था : पप्‍पू यादव


blog-detail.jpg

प्रदेश के अस्‍पतालों में नहीं खत्‍म हो रही कुव्‍यवस्‍था : पप्‍पू यादव 

सांसद ने आपका सेवक आपके द्वार कार्यक्रम के तहत सुनी फरियाद

पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने आज इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थानपटना में ‘आपका सेवक, आपके द्वार’ कार्यक्रम के तहत मरीजों समस्‍याएं सुनीं और उनके समाधान का प्रयास किया। साथ ही जरूरतमंद लोगों को आर्थिक मदद भी की। इससे पहले सांसद ने अस्‍पताल में व्‍याप्‍त कुव्‍यवस्‍था पर भी सवाल खड़े किये। सांसद ने कहा कि अस्‍पतालों में आम लोगों की जरूरत दवाई और बेहतर इलाज हैमगर यहां इलाज करने वाला मशीन ही एक महीने से खराब है। इस बारे में हमने संस्‍थान के निदेशक से बात की तो वे कहते हैं कि आज मशीन ठीक हो गया है। आखिर ये क्‍या है?  

सांसद ने अस्‍पतालों मिलने वाली दवाओं पर कमीशनखोरी की बात सामने आने पर भी सवाल खड़े किये और कहा कि डॉक्‍टरों की मिलिभगत से सरकारी अस्‍पतालों में मिलने वाले दवाई या तो उपलब्‍ध नहीं होते हैं और अगर अस्‍पताल से बाहर मिल भी जाये तो उसपर कमीशन का बोझ काफी अधिक होता है। इससे पता चलता है कि राज्‍य की स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं किस हाल में है। सोचिए ऐसा जब पटना में होता हैतो राज्‍य के जिले और प्रखंड स्‍तर के अस्‍पतालओं में कितनी अ‍व्‍यवस्‍था होती होगी। नये अस्‍पताल आज बिहार की जरूरत हैमगर जो अस्‍पताल हैं वहां भी सुविधाओं को सुचारू ढंग से बहाल करने जरूरत है। लेकिन इससे सरकार और नेताओं को कोई फर्क पड़ता है क्‍या ?

 

पप्‍पू यादव ने सीट शेयरिंग की राजनीति पर कहा कि पक्ष हो या विपक्षआज सभी टी -20 का मैच फिक्‍स में व्‍यस्‍त हैं,मगर इन्‍हें ये सोचना चाहिए कि जब जनता ही नहीं बचेगीतो मैच कैसे खेलेंगे। आज बिहार में आम आदमी के बाद कलाकारों पर भी हमले हो रहे हैं। जाति पूछ कर दबंग बेगूसराय में अत्‍याचार करते हैं। लखीसराय में गैंग रेप करते हैं और कोई कार्रवाई तक नहीं होती। क्‍योंकि आरोपी दबंगों को प्रदेश के मंत्री संरक्षण देते हैं। तो किसी को चुनावी साल में संविधान बचाने की याद आती है। आरक्षणजो कभी खत्‍म होने वाला नहीं हैउसके नाम पर नफरत की राजनीति करते हैं।

उन्‍होंने कहा कि यहां गौर करने वाली बात है कि क्‍या इन नेताओं एजेंडे में आम आदमी के जीवन के सरोकार की बात होती भी हैप्रदेश में आम लोगों की बदहाली पर कभी ये नि:स्‍वार्थ भाव से बात भी करते हैं क्‍यासभी को कुर्सी की पड़ी है और आम जनता की कराह इनके कानों तक नहीं पहुंचती। चुनाव आया कि भी लग जाते हैंवोट की सियासत में।                         

बता दें कि आपका सेवक आपके द्वार कार्यक्रम में जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंहराजेश रंजन पप्‍पूअवधेश लालू,विशाल कुमारगौतम आनंदमुन्‍ना आदि लोग उपस्थित थे।

Register For Vote