IGIMS में पांच गुना फीस वृद्धि के विरोध में जाप(लो) चलाएगा ‘पोल खोल, हल्ला बोल’ कार्यक्रम : एजाज़ अहमद

IGIMS में पांच गुना फीस वृद्धि के विरोध में जाप(लो) चलाएगा ‘पोल खोल, हल्ला बोल’ कार्यक्रम : एजाज़ अहमद


blog-detail.jpg

पटना। 27 अक्टूबर 2018 : जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने अपने वक्तव्य IGIMS में इमरजेंसी सेवाओं में ईलाज को खर्चीला बनाने के मामले में बिहार सरकार हमला बोला है। उन्‍होंने सरकार से पूछा कि क्या यह बिहार के गरीब को ईलाज से भी वंचित करने  की एनडीए सरकार में साजिश तो नहीं चल रही है ? जहां आजकल बिहार भर में प्राइवेट डॉक्टरों के द्वारा लूट की खुली छूट से मरीजों का दोहन हो रहा है। ऐसे समय में एकमात्र स्वास्थ्य संस्थान IGIMS, जहां ईलाज कराने के लिए गरीब एवं मध्यम वर्ग के लोग आया करते थे, उसे भी मंहगा करके  राज्य सरकार ने गरीबों को ईलाज से भी वंचित करने का अन्याय पूर्ण फैसला किया है। 

 

उन्‍होंने कहा कि सरकार द्वारा मरीज विरोधी यह व्यवहार कहीं से भी उचित नहीं है । अफसोस इस बात का है कि इमरजेंसी की हालत में IGIMS में पहले आईसीयू में  इलाज 1100 में हो जाया करता था, वहां अब 5000 लगेगा। पहले जहां एडवांस में पैसा एकमुश्त 10000 जमा कराया जाता था ,वहां अब 50000 मरीज के परिजन से जमा कराया जाएगा ।  पहले बेड 720 में मिलता था, वहां 2500 और 3000 मिलेगा। और एडवांस बेड के लिए पहले जहां 10000 जमा होता था अब वहां पर 25000 और 30000 हजार जमा कराए जाएंगे।

                 

 

उन्‍होंने पूछा कि नीतिश जी क्या न्याय के साथ विकास का मतलब यही है, बिहार में जिस तरह से गरीबों पर हर ओर से प्रहार किया जा रहा है। ऐसा लगता है कि गरीब विरोधी और मध्यम वर्ग को चूसने वाली एनडीए सरकार है और स्वास्थ्य सेवा के माध्यम से अपने खजाने को  राज्य  सरकार भरना चाहती है। एजाज  ने कहा कि अगर जल्द ही बिहार के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने इस ओर ध्यान नहीं दिया और किए गए फीस वृद्धि और बेड चार्ज को तुरंत ही अपने स्थान पर वापस नहीं लिया तो  पार्टी  स्वास्थ्य  सेवाओं मे हो रहे लूट के खिलाफ आमजन के सहयोग से आईजीएमएस में पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक श्री राजेश रंजन पप्पू यादव जी के नेतृत्व में बड़ा जन आंदोलन किया जाएगा। 

उन्‍होंने कहा कि पार्टी द्वारा राज्य  सरकार के स्वास्थ्य सेवाओं की पोल खोली जाएगी, जहां एक ओर प्राइवेट प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरो के साथ मिलकर स्वास्थ्य विभाग बिहार के लोगों को भगवान भरोसे छोड़े हुए हैं। लूट की छूट  दे रखी है, वहीं अब सरकारी संस्थानों में ईलाज के खर्च को महंगा करके गरीब और मध्यम वर्ग को दोहरी मार से प्रताड़ना दे रही है। ऐसा लगता है कि सरकार अपने रेवन्यू  को बढ़ाने के लिए ही स्वास्थ्य सेवा को ही अपना हथियार बना रही है। स्वास्थ्य सेवाओं को मंहगा  करके गरीबों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है। इस तरह की अन्याय पूर्ण व्यवस्था के खिलाफ जन अधिकार पार्टी का हल्ला बोल स्वास्थ्य  व्यवस्था का  पोल खोल कार्यक्रम चलाया जाएगा । 

 

 

Register For Vote