बिहार वासियों का AIIMS में इलाज नहीं होगा- अश्वनी चौबै

 

aswani choubey

केन्द्रीय राज्यमंत्री अश्वनी चौबे जी ने शायद उन गरीबों का दर्द न देखा है न जाना है AIIMS में हर दिन हजारों मरीज आखिर क्यूं बिहार से जाते है ? आखिर क्या कारण है ? पहले मंत्री जी ये जान ले तो शायद यह बात नहीं कहेंगे कि बिहार के मरीजों को AIIMS में नहीं घुसने दिया जाए | बिहार के ९५ %  अस्पताल की हालत जरजर है न डॉक्टर , न सुविधा, ना ही इसकी कोई सुध लेने वाला , और बड़ी बिमारी के लिए तो रहने ही दे ,

 

मंत्री जी एक ऐसा अस्पताल बिहार का बता दें जहां वो अपने परिवार का इलाज़ कराने के लिए तैयार है बिहार की जनता इलाज कराने दिल्ली नहीं जाएगी |  मंत्री जी ये प्रण लेकर या पहल कर दिखा दे कि उनके परिवार के लोग भी अपना उपचार बिहार के ही किसी सरकारी अस्पताल में करवाएँगे |  माननीय पप्पू यादव जी (pappu yadav) के दिल्ली आवास पर उनके सेवाश्रम में हमेशा 300 से ज्यादा मरीज रहते हैं जिनका इलाज ईम्स या किसी अन्य सरकारी अस्पताल में होता है वो भी दिल्ली नहीं जाना चाहते क्यूंकि वो इतने गरीब होते हैं कि उनके पास आने जाने का भाडा तक नहीं होता | माननीय पप्पू यादव जी खाने से ले कर रहने तक का प्रबंध किये हुए है जिनके बदौलत कम से कम वो दिल्ली में रह कर इलाज करवा पाते हैं |  सभी मरीजों, उनके परिजनों और हमारी तरफ से हाथ जोड़कर एक विनती है कि आप बिहार में ही स्वास्थ्य की अच्छी वयवस्था करा दे, हर जिले में अच्छा और मुफ्त उपचार हो ताकि दिल्ली में भीड़ न लगे |