बिहार से आने वाले मंत्री का AIIMS मामले में बयान अपमानजन‍क : जाप (लो)

 

 

पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍य मंत्री अश्विनी चौबे के द्वारा बिहारियों के AIIMS दिल्‍ली में इलाज के संबंध में निदेशक को दिये गए आदेश की घोर निंदा की है। उन्‍होंने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि बहुत की अफसोस की बात है कि बिहार से निर्वाचित होने वाले सांसद के द्वारा ही बिहारियों का अपमान और उनके इलाज के संबंध में समुचित व्‍यवस्‍था नहीं करने का निर्देश देकर लोगों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है।


श्री अहमद ने पूछा कि जब बिहार और केंद्र में एक ही सरकार है और डबल इंजन के माध्‍यम से बिहार के विकास के करने वाले भाजपा और जदयू के नेता इस बात का जवाब देंगे। वे ये बतायेंगे कि बिहार के विभिन्‍न अस्‍पतालों की दुर्दशा और खास तौर पर पटना में PMCH, NMCH, IGIMS जैसे संस्‍थाओं में बेहतर इलाज की व्‍यवस्‍था क्‍यों नहीं है। यही वजह है कि बिहार के लोग मजबूरी में इलाज के लिए AIIMS, दिल्‍ली जाते हैं।


उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली में जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय संरक्षक श्री पप्‍पू यादव (Pappu Yadav) के द्वारा सेवाश्रम खोलकर बिहारी मरीजों के इलाज के लिए हर स्‍तर पर मदद की जाती है। उसे समाप्‍त करने के लिए अश्विनी चौबे जैसे नेता आरएसएस के इशारे पर ऐसा वक्‍तव्‍य दे रहे हैं, क्‍योंकि पप्‍पू यादव के नेतृत्‍व में ही हाल में बिहार में एनडीए सरकार के द्वारा सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने की नीति का आरोप लगाया था। इसमें बजरंग दल जैसे संस्‍थाओं को सरकारी संरक्षण मिला हुआ है।


प्रधान माहासचिव ने कहा कि बिहार में AIIMS की स्‍थापना तो हो गई, मगर उसमें न तो डॉक्‍टर हैं और न ही आधारभूत संरचना। पटना सहित राज्‍य के अन्‍य जिलों में मेडिकल माफिया के द्वारा लूट की स्थिति बनी है। उससे बिहार की जनता त्रस्‍त है। वे मजबूरी में ही इलाज करवाने AIIMS जाते हैं।