जन अधिकार पार्टी ने कारगिल चौक से जेपी गोलंबर तक निकाला विरोध मार्च व मौन जुलूस

 

 

jan adhikar party protest

 

                                        सांसद पप्‍पू यादव ने मंत्री ललन सिंह से मांगा इस्‍तीफा

कहलगांव बांध टूटने के मामले के लिए मंत्री को जिम्‍मेवार बताया

पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाया जाए

जन अधिकार पार्टी ने कारगिल चौक से जेपी गोलंबर तक निकाला विरोध मार्च व मौन जुलूस


पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव (Pappu Yadav) ने भागलपुर के कहलगांव में बांध टूटने के मामले में जल संसाधन मंत्री ललन सिंह से इस्‍तीफे की मांग है। इसके साथ ही पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाने की भी मांग की है।


आज पटना जन अधिकार पार्टी (लो) की ओर से कारगिल चौके से जेपी गोलंबर तक आयोजित मौन जुलूस और विरोध मार्च के बाद पत्रकारों से चर्चा में श्री यादव ने कहा कि भागलपुर के कहलगांव में उद्घाटन के पहले ही बांध का टूट जाना निर्माण कार्यों में भ्रष्‍टाचार का प्रमाण है और प्रशासनिक लापरवाही का नतीजा भी। इस घटना की जिम्‍मेवारी लेते हुए जल संसाधन मंत्री ललन सिंह को इस्‍तीफा दे देना चाहिए। इसके साथ दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए। सांसद ने कहा कि जल संसाधन विभाग लूट और भ्रष्‍टाचार का अड्डा है। हर साल बाढ़ में दर्जनों बांध टूटते हैं और लाखों लोग बेघर होते हैं। लेकिन यही तबाही नेताअधिकारी और ठेकेदारों के लिए कमाई का जरिया बन जाती है। उन्‍होंने कहलगांव में बांध टूटने के मामले की जांच पटना उच्‍च न्‍यायालय की निगरानी में कराने की मांग की।  

श्री यादव ने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों को भी जीएसटी के दायरे में लाना चाहिएताकि इसका लाभ उपभोक्‍ताओं को मिल सके। उन्‍होंने कहा कि अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कच्‍चे तेल की कीमतों में कमी आयी हैइसके बावजूद पिछले एक महीने में पेट्रोल की कीमत में 9 रुपये और डीजल की कीमत में 6 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है। इसकी मार उपभोक्‍ताओं को झेलनी पड़ रही है।


श्री यादव ने कहा कि मौन जुलूस का आयोजन भागलपुर के कहलगांव में बांध टूटने के मामले की न्‍यायिक जांच और पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग के लिए किया गया था। कारगिल चौक से जेपी गोलंबर तक आयोजित जुलूस में हजारों की संख्‍या में पार्टी के कार्यकर्ता शामिल हुए और मांगों के प्रति अपना समर्थन जताया। उन्‍होंने कहा कि जन अधिकार पार्टी (लो) जनहित के मुद्दों पर संघर्ष करती रहेगी।


विरोध मार्च में राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष रघुपति प्रसाद सिंहप्रदेश अध्‍यक्ष अखलाक अहमदराष्‍ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमदराष्‍ट्रीय महासचिव राघवेंद्र कुशवाहा, प्रेमचंद सिंहराजेश रंजन पप्‍पू (Pappu Yadav)मंजयलाल राय, अली अकबर परवेज, प्रदेश प्रधान महासचिव राजीव कुमारशंकर पटेल, अधिवक्‍ता प्रकोष्‍ठ के अध्‍यक्ष अजय कुमार, प्रवक्‍ता श्‍याम सुंदरछात्र परिषद के अध्‍यक्ष गौतम आनंदआजाद चांदविकास बॉक्‍सर आदि मौजूद थे।