शिक्षा माफिया के खिलाफ संघर्ष जारी रहेगा: पप्‍पू यादव

                     शिक्षा क्रांति संवाद में किया एलान

 jan adhikar party

पार्टी का एप किया लांच

शिक्षा में बाजारवाद खतरनाक

संगठन और संघर्ष पार्टी की ताकत

 

पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने कहा है कि शिक्षा माफिया के समाप्‍त होने तक पार्टी का संघर्ष जारी रहेगा। आज श्रीकृष्‍ण मेमोरियल हॉल में जन अधिकार छात्र परिषद के तत्‍वावधान में आयोजित ‘शिक्षा क्रांति संवाद’ को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि शिक्षा में गुणात्‍मक सुधार और छात्रों के हित के लिए पार्टी लगातार संसद से सड़क तक लड़ाई लड़ रही है। इस लड़ाई में छात्रों की भूमिका महत्‍वपूर्ण है।

 

श्री यादव ने कहा कि कॉमन एजुकेशन सिस्‍टम, निजी स्‍कूलों में आरटीई का लागू करवाने और इं‍जीनियरिंग, मेडिकल कॉलेजों में फीस निर्धारण की लड़ाई पार्टी मुखरता से लड़ेगी और शिक्षा माफिया के खिलाफ संघर्ष जारी रहेगा। उन्‍होंने छात्रों और युवाओं से बिहार के नवनिर्माण के लिए समय देने की मांग की, ताकि पार्टी निर्णायक लड़ाई लड़ सके। उन्‍होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से संगठनात्‍मक मजबूती और संघर्ष करते रहने की अपील की। श्री यादव ने कहा कि सभी समितियों ने शिक्षा में बाजारवाद को खतरनाक बताया है। इसके बावजूद शिक्षा का व्‍यावसायीकरण दुर्भाग्‍यपूर्ण है। श्री यादव ने कहा कि सत्‍ता की भूख आदमी को पथभ्रष्‍ट बनाता है। इसके खिलाफ भी युवाओं को सतर्क रहने की जरूरत है। विभिन्‍न देशों में शिक्षा और चुनावी सुधारों में युवा आंदोलनों की चर्चा करते हुए उन्‍होंने कहा कि किसी भी देश का भविष्‍य युवाओं पर निर्भर है। भारत युवाओं का देश है और यही इसकी ताकत है।

 

इस मौके पर पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष अखलाक अहमद ने कहा कि संरक्षक पप्‍पू यादव के नेतृत्‍व व मार्गदर्शन में जन अधिकार पार्टी लगातार जनाधार विस्‍तार कर रही है और संगठनात्‍मक मजबूती भी बढ़ रही है। जन अधिकार पार्टी ही बिहार में असली प्रतिपक्ष की भूमिका का निर्वाह कर रही है।

 

शिक्षा क्रांति संवाद में सांसद पप्‍पू यादव ने पार्टी का एप भी लांच किया, जिसके माध्‍यम से पार्टी के कार्यक्रमों को अधिक से अधिक प्रचार मिल सकेगा। साथ ही पार्टी की नीतियों एवं कार्यक्रमों से लोगों से जोड़ा जा सकेगा। शिक्षा क्रांति संवाद में पार्टी के मौलाना मो अबु बकर, राष्‍ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष अजय कुमार बुलगानीन, रघुपति प्रसाद सिंह, अभियान समिति के अध्‍यक्ष आनंद मधुकर यादव, राष्‍ट्रीय महासचिव राघवेंद्र कुशवाहा, पप्‍पू खान, प्रेमचंद सिंह, राजेश रंजन पप्‍पू, अशोक वर्मा, नौशाद नबी, मंजय लाल, अकबर अली परवेज, प्रदेश प्रधान महासचिव राजीव कुमार, शंकर पटेल, गौतम आनंद, विकास बॉक्‍सर, आजाद चांद, प्रिया राज, अखिलेश यादव, चक्रपाणि हिमांशु, ललन सिंह, जेएन झा, वकील दास, सागर उपाध्‍याय, मनीष यादव, रोहन यादव आदि भी मौजूद थे।