बिहार में बालू माफियाओं के साथ हो रही बारगेनिंग : पप्‍पू यादव

   जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय संरक्षक व सांसद पप्‍पू यादव (Pappu Yadav)  ने बिहार में बालू माफिया के साथ बारगेनिंग की आशंका जताई है। आज पटना स्थित आवास पर आयोजित संवाददाता सम्‍मेलन में उन्‍होंने कहा कि आखिर साक्ष्‍य होने के बावजूद भी बालू माफियाओं की गिरफ्तारी क्‍यों नहीं हो पा रही है। क्‍या सरकार ऐसे लोगों को चिह्नित कर कार्रवाई करेगी। क्‍या नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी शिवदीप लांडे की रिपोर्ट, रोहतास में मनु महराज पर फायरिंग और पत्‍थर घोटाले की जांच सीबीआई से करवाएगी।

उन्‍होंने पूछा कि मध्‍य प्रदेश में संजय सिंह की बेटी की शादी में कृष्‍ण मोहन सिंह मिथिलेश कुमार सिंह, बबन सिंह, सुरेंद्र कुमार, सुभाष प्रसाद यादव और अशोक कुमार जैसे लोग शामिल थे मगर उनकी गिफ्तारी क्‍यों नहीं हो रही है। जबकि इस मामले में नाविक तक गिरफ्तार हो रहे हैं। मुझे शक है कि माफियाओं के साथ बारगेनिंग हो रही है। आखिर सुभाष यादव ने किस को पैसा नहीं दिया। साथ ही सांसद ने बिहार सरकार पर खास वर्ग या जाति को टारगेट करने का आरोप लगाया। उन्‍होंने कि नई सरकार का निर्माण बिहार के विकास के लिए हुआ है। इसलिए माफिया को टारगेट किया जाना चाहिए न कि खास वर्ग या जाति के लोग को। इससे गलत संदेश जा रहा है। उन्‍होंने नीतीश कुमार से लालू प्रसाद के एजेंडे को बंद करने की बात करते हुए कहा कि लालू प्रसाद और उनके परिवार के लोग एजेंडे के लायक नहीं रहे। लालू ने जो किया, इसके लिए उन्‍हें कानून सजा देगी। मगर उन पर टारगेट करना, बिहार में जातीय उन्‍माद पैदा होगा।

सांसद श्री यादव ने नीतीश कुमार से बिहार को विशेष पैकेज और विशेष राज्‍य का दर्जा केंद्र सरकार से जल्‍द से जल्‍द दिलाने का भी आग्रह किया। उन्‍होंने कहा कि अब दोनों जगह एक जैसी सरकार है, तो नीतीश कुमार को विकास की गति तेज करने के लिए प्रधानमंत्री से मिलकर बिहार का हक दिलवाएं। उन्‍होंने कहा कि केंद्र और राज्‍य में एनडीए की सरकार है। अब बिहार की सरकार का नेतृत्‍व देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी का है। इसलिए विशेष पैकेज के साथ फरक्‍का का नवनिर्माण के लिए तत्‍परता दिखाने की जरूरत है।    

जब बिहार का नेतृत्‍व प्रधानमत्री कर रहे हैं, तो दो दोनों लोगों के बीच गाली गलौज बदं होना चाहिए। नीतीश कुमार के साथ रहने वाले लोगों की हैसियत नहीं है कि व लालू यादव को गाली दें और न ही लालू के बच्‍चे या उनके साथ रहने वाले लोगों की हैसियत नहीं है कि वे नीतीश कुमार को गाली दें। यह घटनाक्रम बिहार सामाजिक और राजनीतिक परिवेश के सही नहीं है। यह जातीय उनन्‍माद फैलाता है। 81.8 प्रतिशत पानी हिमालय से आता है। फरक्‍का के कारण बिहार का बाढ़ 70 के दशक से अभिशाप साबित हुआ। इसलिए हाई डैम मामले में केंद्र सरकार नीतीश कुमार के नेत्तव में एक कमेटी बना कर बिहार को बाढ़ और सुखाड़ से निजात दिलाने के एजेंडे पर विचार करे।

सांसद श्री यादव ने बेनामी संपत्ति पर कहा कि बेनामी संपत्ति सुशील मोदी ने लालू प्रसाद की संपत्ति की जांच की बात कही है। यह स्‍वागत योग्‍य है, अगर वे ऐसा नहीं करते हैं इसमें कहीं न कहीं बिहार सरकार की मिलीभगत का संदेह जाहिर होता है। इसके अलावा उन सांसद, विधायक पूर्व मंत्री की संपत्ति की भी जाचं हो, जिनके पास अकूत संपत्ति है। उन्‍होंने कहा कि जन अधिकार पार्टी (लो) सरकार के हर विकास कार्य को नैतिक समर्थन देगी। उन्‍होंने उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव की पदयात्रा पर तंज करते हुए कहा कि एक व्‍यक्ति और एक परिवार 10 तारीक से पदयात्रा करेगी। एक गठबंधन विकास की ओर ध्‍यान ने देकर बांटने पर ध्‍यान दे रहा है, तो दूसरा सत्ता बचाने पर। वहीं, जन अधिकार पार्टी (लो) ‘शिक्षा बचाओ, बिहार बचाओ’ अभियान के तहत क्रांति दिवस के अवसर पर 9 अगस्‍त को पटना के श्री कृष्‍ण मेमोरियल हॉल में चार हजार छात्रों के साथ हल्‍ला बोलेगी। संवाददाता सम्‍मेलन राष्‍ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, राष्‍ट्रीय महासचिव राघवेंद्र कुशवाहा, अकबर अली परवेज और राजेश रंजन पप्‍पू उपस्थित थे।