यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा में बिहार का परचम लहराने के बाद बिहार के लाल ने फिर कर दिया कमाल!

महागठबंधन सरकार ने बिहार में शिक्षा की भले ही ऐसी की तैसी कर दी हो और इंटर-मैट्रिक की परीक्षाओ में टाॅपर घोटाले कर सूबे की छवि धूमिल हो मगर वह बिहार के मेधावी युवाओं को दबा नहीं सकती। वे राष्ट्रीय प्रतियोगिता परीक्षाओं में अपना जलवा बिखेरते ही रहे हैं। यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा में बिहार का परचम लहराने के बाद बिहार के लाल ने फिर कर दिया कमाल! एमबीबीएस और बीडीएस में नामांकन के लिए नीट परीक्षा में बिहार के किशनगंज जिले के ठाकुरगंज निवासी हर्ष अग्रवाल देश भर में 16वीं रैंक मिली है। हर्ष बिहार में पहले स्थान पर हैं, उन्हें एम्स की परीक्षा में 5वां स्थान मिला था। सूबे का नाम रौशन करने वाले हर्ष को बहुत-बहुत बधाई। इस परीक्षा में बिहार के 57 प्रतिशत अभ्यर्थी सफल हुए। इस परीक्षा में बिहार के सैकड़ों छात्रों को बेहतर रैंक मिली है। पटना निवासी निपुण चंद्रा को देश भर में 55वां रैंक मिला है जबकि किशनगंज के आर्यन वैद्य को देश भर में 102वां स्थान मिला है। पटना के आयुष रंजन को नीट में 139वां रैंक मिला है। झाझा के ऋषभ राज ने भी इस परीक्षा में कामयाबी का परचम लहराया है। उन्हें 13वां रैंक मिला। सहरसा के बनगांव निवासी शिक्षक हीरा झा जी के पौत्र अनीश कुमार नीट में 148वां रैंक मिला है। बिहार के इन मेधावी युवाओं को बहुत-बहुत बधाई। वे इसी तरह कामयाबी की नई मंजिलें तय करते हुए बिहार की आन, बान और शान में इजाफा करते रहें, यही कामना है।